गोगा जाहरवीर जी की छड़ी मन्त्र

गोगा जाहरवीर जी की छड़ी मन्त्र

मन्त्र 

सत नमो आदेश , गुरूजी नु आदेश 
शिव शक्ति नु मन्न,माता पार्वती नु मन्न,
अनुसूया सती नु मन्न,हनुमान यति नु मन्न,
ब्रह्मा विष्णु नु मन्न,दत्तात्रेय नु मन्न,
मछिंदरनाथ नु मन्न,नौ देवीया नु मन्न,
तेती करोड़ देवतेआ नु मन्न,कौरू देश नु मन्न,
कामख्या देवी नु मन्न,
नौ नाथ चलन,चौरासी सिद्ध चलन,
बावन वीर चलन,चौबी अवतार चलन,
छे यति चलन,छपन्जा कलुये चलन,
चौंट योगीनिया चलन,तीन सौ सठ मसानीया चलन,
चौदह मसान चलन,बाई सौ ख्वाजा चले,
तेई सौ क़ुतुब चले,
चले गुगा जाहरवीर रत्न हाजी के मरीद
माँ बाछल के लाल देखा तेरे ईल्म दा कमाल,
वैरी दी छाती पैर धरे गोरखनाथ दी आन करे
अंग संग चढ़ नाम जपा अपनी ताक़त दा करिश्मा दिखा
लोहे दा किल्ला ताम्बे दी जंजीर भगत नु भरपूर करदे गुगा जाहरवीर
सोने दी अँगूठी ताम्बे दी खान तैनू रत्न हाजी दी आन
धरती माता दी आन
चले मन्त्र फुरे वाचा देखा गुगा जाहरवीर तेरे ईल्म का तमाशा 
मेरे गुरु दा शब्द सांचा ! दुहाई गुरु गोरखनाथ दी |

गोगा जाहरवीर जी की छड़ी मन्त्र

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.