नवरात्री तिथियां 2017

21 सितंबर से इस बार नवरात्रि पर्व की शुरुआत होने जा रही है। आश्विन माह में पड़ने वाले इस नवरात्रि को शारदीय नवरात्रि कहा जाता है। इस बार नवरात्रि का शुभ मुहूर्त सुबह 6 बजकर 3 मिनट से 8 बजकर 22 मिनट तक रहेगा।

रात्र के नौ दिन प्रात:, मध्याह्न और संध्या के समय भगवती दुर्गा की पूजा करनी चाहिए। श्रद्धानुसार अष्टमी या नवमी के दिन हवन और कुमारी पूजा कर भगवती को प्रसन्न करना चाहिए।नवरात्र में हवन और कन्या पूजन अवश्य करना चाहिए। नारदपुराण के अनुसार हवन और कन्या पूजन के बिना नवरात्र की पूजा अधूरी मानी जाती है। साथ ही नवरात्र में मां दुर्गा की पूजा के लिए लाल रंग के फूलों व रंग का अत्यधिक प्रयोग करना चाहिए। नवरात्र में “श्री दुर्गा सप्तशती” का पाठ करने का प्रयास करना चाहिए।

प्रतिपदा

घटस्थापना

शैलपुत्री पूजा

घटस्थापना के दिन का पञ्चाङ्ग

२१st

सितम्बर २०१७
(बृहस्पतिवार)

 

नवरात्रि का दिन २

सितम्बर २०१७
(शुक्रवार)

 

नवरात्रि का दिन ३

तृतीया

सिन्दूर तृतीया
चन्द्रघन्टा पूजा
स्लेटी
२३rd
सितम्बर २०१७
(शनिवार)

 

नवरात्रि का दिन ४

चतुर्थी

२४th

सितम्बर २०१७
(रविवार)

 

नवरात्रि का दिन ५

पञ्चमी

स्कन्दमाता पूजा
२५th
सितम्बर २०१७
(सोमवार)

 

नवरात्रि का दिन ६

षष्ठी

कात्यायनी पूजा

कात्यायनी पूजा के दिन का पञ्चाङ्ग

२६th
सितम्बर २०१७
(मंगलवार)

 

नवरात्रि का दिन ७

सप्तमी
कालरात्रि पूजा

सरस्वती आवाहन के दिन का पञ्चाङ्ग

२७th
सितम्बर २०१७
(बुधवार)

 

नवरात्रि का दिन ८

अष्टमी

सरस्वती पूजा
दुर्गा अष्टमी
महागौरी पूजा
२८th
सितम्बर २०१७
(बृहस्पतिवार)

 

नवरात्रि का दिन ९

२९th
सितम्बर २०१७
(शुक्रवार)

 

नवरात्रि का दिन १०

दशमी

दुर्गा विसर्जन, विजयदशमी
१०
३०th
सितम्बर २०१७
(शनिवार)