Shri Shail Shakti Peeth, श्री शैल शक्तिपीठ Shri Shail Shakti Peeth

Shri Shail Shakti Peeth

श्री शैल शक्तिपीठ  Shri Shail Shakti Peeth
आंध्रप्रदेश  के कुर्नूल के पास है श्री शैल का शक्तिपीठ, जहां माता का ग्रीवा गिरा था। यहां की शक्ति महालक्ष्मी तथा भैरव संवरानन्द अथव ईश्वरानन्द हैं।

श्री शैल शक्तिपीठ Shri Shail Shakti Peeth 51 शक्तिपीठों में से एक है। हिन्दू धर्म के पुराणों के अनुसार जहां-जहां सती के अंग के टुकड़े, धारण किए वस्त्र या आभूषण गिरे, वहां-वहां शक्तिपीठ अस्तित्व में आये। ये अत्यंत पावन तीर्थस्थान कहलाये। ये तीर्थ पूरे भारतीय उपमहाद्वीप पर फैले हुए हैं। देवीपुराण में 51 शक्तिपीठों का वर्णन है।

  • आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद से 250 कि.मी. दूर कुर्नूल के पास श्री शैलम है, जहाँ सती की ‘ग्रीवा’ का पतन हुआ था।
  • यहाँ की सती ‘महालक्ष्मी’ तथा शिव ‘संवरानंद’ अथवा ‘ईश्वरानंद’ हैं।
  • श्री शैल को “दक्षिण का कैलास” और साथ ही ‘ब्रह्मगिरि’ भी कहते हैं।
  • इसी स्थान पर भगवान शिव का मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग है।
  • 7 कि.मी. पश्चिम में भ्रमराम्बा देवी का मंदिर है, जिसे शक्तिपीठ माना जाता है।
  • यहाँ का निकटस्थ रेलवे स्टेशन मरकापुर रोड है तथा निकटस्थ वायुयान अड्डा हैदराबाद है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.