Janmashtami 2018 date in India

Janmashtami 2018 date in India

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार इस बार 2 सितंबर 2018 को मनाया जाएगा। हिंदू धर्म में कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व बहुत खास महत्व होता है। इस त्योहार को भगवान कृष्ण के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस बार अष्टमी 2 सितम्बर की रात 08:47 पर लगेगी और 3 तारीख की शाम को  7 बजकर 20 मिनट पर खत्म हो जायेगी।

जन्माष्टमी शुभ मुहूर्त 2018
-जन्माष्टमी के दिन निशिता पूजा का समय का समय रात 11 बजकर 57 मिनट से 12 बजकर 43 मिनट तक रहेगा।
– शुभ मुहूर्त की कुल अवधि 45 मिनट तक रहेगा।
-3 सितंबर को, पारण का समय: शाम 8 बजकर 5 मिनट के बाद

जन्माष्टमी महत्व
भादो महीने की जन्माष्टमी तिथि को कृष्ण जन्माष्टमीके रूप में मनाया जाता है। इसी तिथि में भगवान कृष्ण का जन्म हुआ था। भगवान कृष्ण का जन्म रोहिणी नक्षत्र में आधी रात के वक्त हुआ था। धार्मिक मान्यता के अनुसार इस भगवान कृष्ण की पूजा करने सभी तरह के दुखों का नाश होता है ।
5245th Birth Anniversary of Lord Krishna
Nishita Puja Time = 23:57 to 24:43+
Duration = 0 Hours 45 Mins
Mid Night Moment = 24:20+
On 3rd, Parana Time = After 20:05
a Day Ashtami Tithi End Time = 19:19
On Parana Day Rohini Nakshatra End Time = 20:05

janmashtami 2018 iskcon

इस त्योहार के दौरान भगवान श्रीकृष्ण के जन्मस्थान मथुरा-वृंदावन में मुख्य रूप से रास लीला का आयोजन किया जाता है। रास का अर्थ सौंदर्य, भावना या मिठाई और लीला नाटक या नृत्य या अधिक व्यापक रूप से इसे ईश्वरीय प्रेम का नृत्य कहते है।
कृष्ण जन्माष्टमी को कृष्णाष्टमी, गोकुलाष्टमी, कन्हैया अष्टमी, कन्हैया आठें, श्री कृष्ण जयंती और श्रीजी जयंती प्रमुख नामों से भी जाना जाता है।
Kirit Shakti Peeth
जन्माष्टमी बांग्लादेश में एक राष्ट्रीय अवकाश है, और बांग्लादेश ढाकेश्वरी मंदिर, ढाका के राष्ट्रीय मंदिर से शुरू होता है। और श्री स्वामीनारायण मंदिर, कराची पाकिस्तान में भी मनाया जाता है।

janmashtami 2018 iskcon Delhi

ISKCON Sri Sri Radha Parthasarathi Mandir

Sri Sri Rukmini Dwarkadhish Mandir

Iskon Sri Sri Radha Madan Mohan Mandir

ISKCON Temple Greater Noida

GuruPushya Yoga 2018

Recommended Posts

No comment yet, add your voice below!


Leave a Reply